यूआईडी (आधार)

आधार यूआईडी परियोजना भारत के सभी निवासियों को स्वच्छ सुलभ पहचान हेतु विशिष्ट पहचान संख्या आधार जारी करने के लिए भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी पहल है जिसका इस्तेमाल सरकार द्वारा प्रदत लाभ और हकों के प्रशासन के लिए किया जा सकता है । आधार सेवाएं प्रदान करने के लिए ऑनलाइन प्रमाणीकरण प्रदान करता है जिसे भारत भर में इस्तेमाल किया जा सकता है।

आधार क्या है?

आधार एक 12 अंकों की संख्या जाति सम्प्रदाय और धर्म के आधार पर किसी भी वर्गीकरण से रहित एक यादृच्छिक संख्या जिसे सभी निवासियों के लिए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण यूआईडीएआई द्वारा जारी किया जाता है। यह संख्या एक केंद्रीकृत डेटाबेस में संग्रहीत और प्रत्येक व्यक्ति की बुनियादी जनसांख्यिकी और बायोमीट्रिक जानकारी से जोड़ा जाता है फोटोग्राफ दस उंगलियों के निशान और आंखों की पुतलियों के स्कैन। प्रासंगिक विवरण नपकंपण्हवअण्पद पर देखा जा सकता हैं।

यूआईडी आधार परियोजना एक जी2सी पहल है और कार्यान्वयन और आपरेशन चरण के दौरान दोनों बहुतायत से आईसीटी का प्रयोग करेंगे जो शासन प्रतिमान में हाल के दिनों में भारत सरकार के सबसे प्रभावित परिवर्तनकारी पहल के रूप में माना गया है।

राज्य सरकारों और अन्य सहयोगियों के साथ संयोजन के रूप में यूआईडीएआई निवासियों को आधार देने के लिए प्रतिबद्ध है। इसे प्राप्त करने के लिए यूआईडीएआई ने राजस्थान सरकार सहित कई राज्य सरकारों के साथ एक समझौता ज्ञापन एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं। यूआईडी परियोजना के क्रियान्वयन के लिए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ( यूआईडीएआई और राजस्थान सरकार के बीच 28 मई 2010 एक समझौता किया गया।

Nodal Officer : Smt. Vinita Srivastava, ACP (Deputy Director)

Email : oic[dot]website[at]rajasthan[dot]gov[dot]in

विज़िटर काउंटर: 100872

अद्यतन दिनांक: 03-08-2021

This website belongs to (DoIT & C) Department of Information Technology & Communication

प्रभारी अधिकारी : श्रीमती विनीता श्रीवास्तव, एसीपी (उप निदेशक)

ईमेल : oic[dot]website[at]rajasthan[dot]gov[dot]in

विज़िटर काउंटर: 100872

अद्यतन दिनांक: