सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा दो दिवसीय डिजी फेस्ट का आयोजन


Event Detail

19/08/2022

विश्वभर में आईटी संचालित प्रक्रियाओं में प्रारंम्भिक काल से अभी तक आमुल परिवर्तन सामने आया है। इस परिप्रेक्षय में आमजन को क्षमतापूर्ण, प्रभावी एवं पारदर्शी सेवाएं देने के लिए राजस्थान में भी समय समय पर इसी प्रकार के बदलाव किये गए हैं। प्रमुख शासन सचिव वित्त श्री अखिल अरोड़ा ने बिड़ला ऑडिटोरियम में शुक्रवार को आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि तकनीक एवं उद्यमिता के क्षेत्र में युवाओं को बढ़ावा देने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा 19 और 20 अगस्त 2022 को राजस्थान डिजिफेस्ट 2022 जयपुर, राजस्थान में आयोजित किया जा रहा है। इस दो दिवसीय बहुआयामी आयोजन का उद्देश्य युवाओं, स्टार्टअप्स, निवेशकों, कॉरपोरेट्स, भागीदारों और शिक्षाविदों को एक मंच पर लाना और बड़े पैमाने पर सरकार और जनता के साथ बातचीत और सहयोग की सुविधा प्रदान करना है। राजस्थान डिजिफेस्ट 2022 के मुख्य बिन्दु- राजीव गांधी एडवांस टेक्नोलॉजी सेंटर (आर-कैट) का उद्घाटनः राजस्थान सरकार राज्य के पूर्वस्नातकों, स्नातक, स्नातकोत्तरों के लिए रोजगार के अवसरों को समृद्ध करने के लिए दृढ़ संकल्पित है, जिसके परिणामस्वरूप राजीव गांधी एडवांस टेक्नोलॉजी सेंटर (आर-कैट) की घोषणा की गई है। उन्होंने बताया कि राज्य में सरकार एवं उद्योग जगत की मांग के अनुसार गुणवत्तापूर्ण तकनीकी जनशक्ति उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए, विश्वस्तरिय सर्टिफिकेशन प्रोग्राम को अपनाते हुए आईटी क्षेत्र के अग्रणी संस्थाओं के साथ सहभागिता के आधार पर प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम संचालित करने के लिए आर-कैट को वर्ष 2022 में राजस्थान सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1958 के अन्तर्गत सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग, राजस्थान सरकार के संरक्षण में स्थापित किया गया है। यहाँ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग (एआई-एमएल), ब्लॉकचेन, ऑगमेंटेड) रियलिटी/वर्चुअल रियलिटी (एआर/वीआर) बिग डेटा एनालिटिक्स, रोबोटिक्स और क्वांटम कंप्यूटिंग आदि पर भागीदार संस्थानों द्वारा प्रशिक्षण दिया जायेगा एवं सफल अभ्यार्थियों को विश्वस्तरीय सर्टिफिकेट भी जारी किये जायेगें। आर-कैट युवाओं और कामकाजी पेशेवरों के विकास, तकनीकी और सॉफ्ट स्किल के लिए फिनिशिंग स्कूल के रूप में कार्य करेगा ताकि उन्हें उद्योग आधारित मांग के अनुरूप तैयार किया जा सके एवं उद्योग अपडेट सहकार्य, पहले से स्थापित प्रयोगशालाओं के उपयोग आदि के लिए स्टार्ट-अप का समर्थन किया जा सके। श्री अरोड़ा ने बताया कि ओरेकल, पीएमवेयर, एसएएस, रेडहेट, सिस्को एवं कैडओटाफिना जैसे वैश्विक तकनीकी दिग्गजों के सहयोग से बीई/बीटेक, बीसीए, एमसीए, एमबीए और एमएससी (आईटी) जैसे पेशेवर स्नातकों के लिए एक सप्ताह से छह महीने तक की अवधि के उन्नत और उभरती आईटी आधारित प्रमुख तकनीकी जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग (एआई-एमएल), ब्लॉकचेन, ऑगमेंटेड रियलिटी और वर्चुअल रियलिटी (एआर/पीआर) बिग डेटा एनालिटिक्स, रोबोटिक्स और क्वांटम कंप्यूटिंग आदि पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। स्टार्टअप एक्सपो- यह एक साझा मंच पर राज्य के स्टार्टअप द्वारा उत्पादों और सेवाओं की सबसे बड़ी प्रदर्शनी है। 45 आई स्टार्ट मान्यता प्राप्त स्टार्टअप, राज्य भर से विभिन्न विश्वविद्यालयों और एटीएल का प्रतिनिधित्व करने वाले स्टार्टअप्स, उत्पादों एवं सेवाओं का प्रदर्शन करेंगे। इन सभी स्टार्टअप को उत्पादों एवं सेवाओं की सीधी खरीद के लिए सरकारी अधिकारियों के सामने उनकी बातचीत व पिच की सुविधा मिल रही है। स्टार्टअप एक्सपो में भाग लेने वाले स्टार्टअप्स के कुछ नाम हैंः ASR Techno Code Vidhya WOLOOKA Technologis.Pvt.Ltd. MYERA LUGBEE स्टार्टअप बाजार- स्टार्टअप बाजार में उत्पाद आधारित शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के 30 स्टार्टअप को अपने उत्पादों के प्रदर्शन एवं बिक्री का अवसर दिया जा रहा है। स्टार्टअप बाजार में प्रदर्शित किए जा रहे कुछ स्टार्टअप उत्पाद हैैंः- ACL Foods Going Zero Eatorgo Thelagadi Private Limited Gatrim Herbonatural Biosciences OPC Pvt- Ltd- गोलमेज सम्मेलन- विभिन्न उद्योग निकाय और स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के समर्थकों को चर्चा आयोजित एवं भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है जिसमें स्टार्टअप और युवा पारिस्थितिकी तंत्र के हितधारक शामिल होंगेे। अंतिम उपयोगकर्ता के लिए सेवा वितरण पर आवश्यक प्रभाव को समझने में मदद करने के लिए सिविल सोसायटी के वक्ताओं को भी आमंत्रित किया गया है। इन सम्मेलनों, पावर वार्ता, फायरसाइड चैट, पैनल चर्चा और देश भर से विभिन्न ज्ञान सत्रों के लिए आमंत्रित वक्ता न केवल सरकार को प्रत्यक्ष प्रतिक्रिया देंगे, बल्कि स्टार्टअप्स और पारिस्थितिकी तंत्र के अन्य प्रमुख हितधारकों के लिए संबंध भी बनाएंगे। आईस्टार्ट स्कूल स्टूडेंट फेस्ट- राज्य सरकार प्रदेश में युवा उद्यमिता को बढावा देने के लिए डिजी फेस्ट में स्कूल स्तरीय स्टार्टअप फेस्ट का आयोजन कर रही है जहां राजस्थान के 50 से अधिक विद्यालयों के 3000 से अधिक विद्यार्थीयों को बी क्विज, एड-एमएडी प्रतियोगिता में भाग लेने एवं पिचिंग सेशन अटेंड करने के लिए अवसर दिया जा रहा है। इस आयोजन के पीछे प्रदेश के युवा छात्र छात्राओं को पारिस्थितिकी तंत्र रूबरू कराना है। इस अवसर पर संभाग एवं जिला स्तरीय 51 छात्र छात्राओं को स्कूल स्टार्टअप प्रोग्राम के अन्तर्गत स्कूल इनोवेशन चैलेंज के लिए पुरस्कृत किया जा रहा है। साथ ही 23 छात्र छात्राओं को ग्रामीण आईस्टार्ट कार्यक्रम के अन्तर्गत पुरस्कृत किया जा रहा है। स्टार्टअप्स को फंडिंग का विस्तार- राजस्थान स्टार्टअप पॉलिसी 2015 के अन्तर्गत, स्टार्टअप्स के लिए मूल्यांकन समिति और राज्य स्तरीय कार्यान्वयन समिति ने 67 स्टार्टअप्स को लगभग 4.41 करोड़ रुपये के कुल फंडिंग मूल्य के साथ फंडिंग का मूल्यांकन और अनुमोदन किया है। इस आयोजन में मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत इन सभी 67 लाभार्थियों की घोषणा और अभिनंदन करेंगे। आयोजन की अन्य मुख्य विशेषताएं- राजस्थान स्टार्टअप समुदाय को बड़े पैमाने पर लाभान्वित करने के लिए विभाग अन्य पारिस्थितिकी तंत्र के भागीदारों के साथ भी समन्वय कर रहा है। इस तरह की पहलों में न केवल घटना का विशेष कवरेज शामिल होगा बल्कि हमारी उद्यमशीलता, संस्कृति की विशिष्ट कहानियां भी शामिल होंगी। दो दिवसीय कार्यक्रम में ड्रोन एक्सपो, प्रौद्योगिकी फिल्म महोत्सव, इन-हाउस प्रतिभा द्वारा प्रदर्शन, कॉर्पाेरेट प्रशिक्षण और स्टार्टअप और अन्य प्रतिभागियों के लिए अन्य वेलनेस सत्र भी सम्मिलित है। 15 ड्रोन OEM(s) अपने उत्पादों और सेवाओं को प्रदर्शित करेंगे। कुछ ड्रोन OEM(s) निम्नानुसार हैंः • Hind innovations (Rajasthan Based) • Aerodyne India Ventures Pvt. Ltd. • Visron private limited (IStart Register) • Techeagle innovations

Document


Event Type Document